लोगों की राय

लेखक:

राजी सेठ

जन्म : नौशेहरा छावनी (अविभाजित भारत), सन् 1935

शिक्षा : एम.ए. अंग्रेजी साहित्य। विशेष अध्ययन : तुलनात्मक धर्म और भारतीय दर्शन।

लेखन : जीवन के उत्तरार्द्ध में शुरू किया : 1975 से। उपन्यास, कहानी, कविता, समीक्षा, निबन्ध आदि सभी विधाओं में लेखन।

प्रकाशन : तत-सम (उपन्यास); निष्कवच (दो उपन्यासिकाएँ); अन्धे मोड़ से आगे, तीसरी हथेली, यात्रा-मुक्त, दूसरे देशकाल में, सदियों से, यह कहानी नहीं, किसका इतिहास, गमे हयात ने मारा, खाली लिफाफा (कहानी-संग्रह)।

मदर्स डायरी (अंग्रेजी में अनूदित); मेरे लई नई (पंजाबी में); मीलों लम्बा पुल (उर्दू में); निष्कवच (गुजराती में); इक्यूनॉक्स (तत-सम का अनुवाद अंग्रेजी में)।

अनुवाद कार्य : जर्मन कवि रिल्के के 100 पत्रों का अनुवाद आक्ताविया पाज़, दायसाकू इकेदा, लक्ष्मी कण्णन, दिनेश शुक्ल की रचनाओं के बहुत से अनुवाद।

राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय हू इज हूमें प्रविष्टि।

सम्मान : हिन्दी अकादमी सम्मान, भारतीय भाषा परिषद पुरस्कार, अनन्त गोपाल शेवडे पुरस्कार, वाग्मणि सम्मान, संसद साहित्य परिषद सम्मान, जनपद अलंकरण आदि-आदि।

सम्पर्क : एम-16, साकेत, नई दिल्ली-110 017

मार्था का देश

राजी सेठ

मूल्य: Rs. 135

राजी सेठ की कम में ज्यादा, साधारण में असाधारण की गहरी रचना क्षमता से तलाश करती सात लंबी कहानियां

  आगे...

यह कहानी नहीं

राजी सेठ

मूल्य: Rs. 80

सूक्ष्मता, सघनता और अपनी अर्थवत्ता के लिए हिन्दी के एक बड़े पाठक-समाज द्वारा पढ़ी और सराही जाती राजी सेठ की कहानियों का नवीनतम संग्रह है ‘यह कहानी नहीं’।

  आगे...

सात लम्बी कहानियाँ

राजी सेठ

मूल्य: Rs. 225

  आगे...

 

12   13 पुस्तकें हैं|