Rajendra Yadav/राजेन्द्र यादव
लोगों की राय

लेखक:

राजेन्द्र यादव

जन्म : 28 अगस्त, 1929।

देहावसान : 28 अक्तूबर, 2013

शिक्षा : एम.ए. (आगरा)।

निवास : आगरा, मथुरा, झाँसी, कलकत्ता होते हुए अब दिल्ली।

प्रथम रचना : प्रतिहिंसा (‘चाँद’ के भूतपूर्व संपादक श्री रामरखासिंह सहगल के मासिक ‘कर्मयोगी’ में) 1947।

कृतियाँ :

उपन्यास : सारा आकाश, उखड़े हुए लोग, शह और मात, एक इंच मुस्कान (मन्नू भंडारी के साथ), अनदेखे अनजान पुल, मंत्र-विद्ध और कुलटा, प्रेत बोलते हैं।

कहानी-संग्रह : देवताओं की मूर्तियाँ, खेल-खिलौने, जहाँ लक्ष्मी कैद है, छोटे-छोटे ताजमहल, किनारे से किनारे तक, टूटना, ढोल और अपने पार, वहाँ तक पहुँचने की दौड़, श्रेष्ठ कहानियाँ, प्रिय कहानियाँ, दस प्रतिनिधि कहानियाँ, प्रेम कहानियाँ, प्रतिनिधि कहानियाँ, चौखटे तोड़ते त्रिकोण, राजेन्द्र यादव संकलित कहानियाँ, अभिमन्यु की आत्महत्या, मेरी पच्चीस कहानियाँ, चर्चित कहानियाँ, अब तक की समग्र कहानियाँ, यहाँ तक : पड़ाव 1, यहाँ तक : पड़ाव 2।

कविता-संग्रह : अवाज तेरी है।

निबंध-समीक्षा : कहानी : स्वरूप और संवेदना, उपन्यास : स्वरूप और संवेदना, कहानी : अनुभव और अभिव्यक्ति, काँटे की बात (बारह खंड), प्रेमचंद की विरासत, वे देवता नहीं हैं।

आत्मकथा : मुड़ मुड़ के देखता हूँ।

संपादन : नये साहित्यकार पुस्तकमाला में मोहन राकेश, कमलेश्वर, राजेन्द्र यादव, फणीश्वरनाथ ‘रेणु’ तथा मन्नू भंडारी की चुनी हुई कहानियाँ। एक दुनिया : समानांतर, कथा-यात्रा, आत्मतर्पण, देहरि भई विदेस।

आलोचना : अठारह उपन्यास।

संस्मरण/पत्र : औरों के बहाने, अब वे वहाँ नहीं रहते।

स्त्री-विमर्श : आदमी की निगाह में औरत, अतीत होती सदी और स्त्री का भविष्य।

किशोरोपयोगी : घर की तलाश, परी नहीं मरती।

उपन्यास : हमारे युग का एक नायक : लर्मेन्तोव, प्रथम प्रेम, वसंत प्लावन : तुर्गनेव, टक्कर, ऐन्तोन चेखव, संत सर्गीयस : टाल्सस्टाय, एक मछुआ : एक मोती : स्टाइन बैंक, अजनबी : अलबेयर कामू, काली सुर्खियाँ।

साक्षात्कार : मेरे साक्षात्कार : राजेन्द्र यादव।

नाटक : हंसनी, चेरी का बगीचा, तीन बहनें : चेखव।

कहानियाँ : नरक ले जाने वाली लिफ्ट।

10 प्रतिनिधि कहानियाँ (राजेन्द्र यादव)

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 180

राजेन्द्र यादव की दस प्रतिनिधि कहानियाँ...

  आगे...

अठारह उपन्यास

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 500

स्वातंत्र्योत्तर उपन्यासों का मूल्यांकन....

  आगे...

अतीत होती सदी और स्त्री का भविष्य

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 695

अतीत होती सदी और स्त्री का भविष्य... Women Studies

  आगे...

अनेदेखे अनजान पुल

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 60

  आगे...

अब वे वहाँ नहीं रहते

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 250

चार शिखर लेखकों के बीच के पत्र-व्यवहार

  आगे...

आदमी की निगाह में औरत (अजिल्द)

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 299

आदमी की निगाह में औरत

  आगे...

आदमी की निगाह में औरत (सजिल्द)

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 695

आदमी की निगाह में औरत

  आगे...

उखड़े हुए लोग

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 695

राजेन्द्र यादव का एक राजनीतिक उपन्यास...

  आगे...

एक दुनिया : समानान्तर

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 795

स्वातंत्र्योत्तर हिन्दी-कहानी का बेजोड़ संकलन

  आगे...

औरों के बहाने

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 400

संस्मरण, विश्लेषण और संश्लेषण की एक अनूठी पुस्तक

  आगे...

कथा जगत की बागी मुस्लिम औरतें

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 600

  आगे...

कांटे की बात-11 : सांस्कृतिक मोर्चाबन्दी का इतिहास

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 125

कांटे की बात-11 : सांस्कृतिक मोर्चाबन्दी का इतिहास   आगे...

जहाँ लक्ष्मी कैद है

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 395

रोचक कथा-संग्रह

  आगे...

ढोल और अपने पार

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 175

स्वातंत्र्योत्तर भारत के मध्यवित्त समाज के भीतर संक्रमण से गुजर रहे नैतिक मूल्यों, स्त्री-पुरुष सम्बन्धों, सामाजिक परिस्थितियों तथा इन सबके बीच पैदा हो रही नई दृष्टि को रेखांकित करती कहानियाँ

  आगे...

देहरि भई विदेस

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 400

इस ग्रंथ में संकलित सभी आत्मकथांश और आत्मकथ्य किसी न किसी स्तर की प्रतिष्ठित और स्थापित और जानी-मानी लेखिकाओं का योगदान है।

  आगे...

नरक ले जाने वाली लिफ्ट

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 200

प्रस्तुत है एक सदाबहार पुस्तक...

  आगे...

पितृसत्ता के नये रूप

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 250

‘पितृसत्ता के नये रूप: स्त्री और भूमंडलीकरण’, कुछ रचनाओं को छोड़कर उसी अंक का पुस्तक रूप है।

  आगे...

प्रतिनिधि कहानियाँ : राजेंद्र यादव

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 75

राजेंद्र यादव की कहानियां स्वाधीनता-बाद के विघटित हो रहे मानव-मूल्यों, स्त्री-पुरुष संबंधों, बदलती हुई सामाजिक और नैतिक परिस्थितियों तथा पैदा हो रही एक नयी विचार दृष्टि को रेखांकित करती हैं।

  आगे...

प्रेमचन्द की विरासत

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 300

  आगे...

मंत्र-विद्ध और कुलटा

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 150

प्रस्तुत है दो लघु उपन्यास....

  आगे...

मुड़ मुड़के देखता हूँ

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 595

इन 'अंतर्दर्शनों' को मैं ज्यादा-से-ज्यादा 'आम्त्काथ्यांश' का नाम दे सकता हूँ।

  आगे...

राजेंद्र यादव रचनावली (खंड 1-15)

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 15000

रचनावली का पहला खंड उनके इसी आरम्भिक लेखन को समर्पित है

  आगे...

राजेन्द्र यादव संकलित कहानियां

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 75

इस पुस्तक में राजेन्द्र यादव (1929) की अठारह कहानियां संकलित हैं। अपने विराट् कथा संसार में से इन कहानियों का चयन कहानीकार ने स्वयं किया है.....   आगे...

वक्त है एक ब्रेक का

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 350

जनवरी 2007 में प्रकाशित ‘हंस’ के विशेषांक ‘ख़बर चैनलों में पहली बार’ के लिए विभिन्न अग्रणी चैनलों में काम कर रहे पत्रकारों ने अपनी आपबीती को आधार बनाकर ये कहानियाँ लिखी थीं।

  आगे...

वहाँ तक पहुँचने की दौड़

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 200

राजेन्द्र यादव अपने दौर के विशिष्ट और महत्त्वपूर्ण रचनाकार ही नहीं, नई कहानी आन्दोलन के प्रतिनिधि लेखक भी हैं।

  आगे...

वे देवता नहीं हैं

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 550

वे देवता नहीं हैं   आगे...

वे हमें बदल रहे हैं...

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 495

  आगे...

शह और मात

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 495

उपन्यास की नाटकीयता और रोचकता का एकमात्र रहस्य उसकी मनोवैज्ञानिक सूक्ष्मता एवं यथार्थ अनुकारिता है।

  आगे...

सारा आकाश

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 450

आजाद भारत की युवा-पीढ़ी के वर्तमान की त्रासदी और भविष्य का नक्शा...

  आगे...

 

   29 पुस्तकें हैं|