Vijay Tendulkar/विजय तेन्दुलकर
लोगों की राय

लेखक:

विजय तेन्दुलकर
विजय तेन्दुलकर जन्म 6 जनवरी, 1928।
मराठी के आधुनिक नाटककारों में शीर्षस्थ विजय तेन्दुलकर अखिल भारतीय स्तर पर प्रतिष्ठित एक महत्त्वपूर्ण नाटककार हैं। 50 से अधिक नाटकों के रचयिता तेन्दुलकर ने अपने कथ्य और शिल्प की नवीनता से निर्देशकों और दर्शकों, दोनों को बराबर आकर्षित किया। पूरे देश में उनके नाटकों के अनुवाद एवं मंचन हो चुके हैं। हिन्दी में उनके 30 से अधिक नाटक खेले जा चुके हैं।

‘खामोश! अदालत जारी है’, ‘घासीराम कोतवाल’, ‘सखाराम बाइंडर’, ‘जाति ही पूछो साधु की’ और ‘गिद्ध’ आदि बहुचर्चित-बहुमंचित नाटकों के अलावा उनकी प्रमुख नाट्य रचनाएँ हैं: ‘अंजी’, ‘अमीर’, ‘कन्यादान’, ‘कमला’, ‘चार दिन’, ‘नया आदमी’, ‘बेबी’, ‘मीता की कहानी’, ‘राजा माँगे पसीना’, ‘सफ़र’, ‘नया आदमी’, ‘हत्तेरी किस्मत’, ‘आह’, ‘दंभद्वीप’, ‘पंछी ऐसे आते हैं’, ‘काग विद्यालय’, ‘काग़ज़ी कारतूस’, ‘नोटिस’, ‘पटेल की बेटी का ब्याह’, ‘पसीना-पसीना’, ‘महंगासुर का वध’, ‘मैं जीता मैं हारा’, ‘कुत्ते’, ‘श्रीमंत’ आदि।
विजय तेन्दुलकर के नाटकों में मानव जीवन की विषमताओं, स्वाभाविक व अस्वाभाविक यौन सम्बन्धों, जातिगत भेदभाव और हिंसा का यथार्थ चित्रण मिलता है। उनके अधिकांश पात्र मध्यम एवं निम्न मध्यमवर्ग के होते हैं और उनके विभिन्न रंग इन नाटकों में आते हैं।
निधन: 19 मई, 2008।

कादम्बरी-एक

विजय तेन्दुलकर

मूल्य: Rs. 300

प्रस्तुत है श्रेष्ठ उपन्यास.....   आगे...

कुत्ते

विजय तेन्दुलकर

मूल्य: Rs. 300

  आगे...

घासीराम कोतवाल

विजय तेन्दुलकर

मूल्य: Rs. 99

प्रस्तुत है नाटक...

  आगे...

जाति ही पूछो साधु की

विजय तेन्दुलकर

मूल्य: Rs. 150

जीवन के स्याह पक्षों को निर्मम पर्यवेक्षण से उजागर करने के लिए प्रसिद्ध रहे विजय तेन्दुलकर का यह नाटक समकालीन सामाजिक विद्रूप को थोड़ा व्यंग्यात्मक नजरिये से खोलता है।   आगे...

पंछी ऐसे आते हैं

विजय तेन्दुलकर

मूल्य: Rs. 225

  आगे...

मसाज

विजय तेन्दुलकर

मूल्य: Rs. 250

मसाज   आगे...

विठ्ठला

विजय तेन्दुलकर

मूल्य: Rs. 125

प्रस्तुत है नाटक विठ्ठला ...   आगे...

सखाराम बाइंडर

विजय तेन्दुलकर

मूल्य: Rs. 250

  आगे...

 

   8 पुस्तकें हैं|