ग्यारह लम्बी कहानियाँ - निर्मल वर्मा Gyarah Lambi Kahaniyan - Hindi book by - Nirmal Verma
लोगों की राय

कहानी संग्रह >> ग्यारह लम्बी कहानियाँ

ग्यारह लम्बी कहानियाँ

निर्मल वर्मा

प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ प्रकाशित वर्ष : 2008
पृष्ठ :334
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 119
आईएसबीएन :9788126330546

Like this Hindi book 3 पाठकों को प्रिय

434 पाठक हैं

हिन्दी के यशस्वी कथाकार निर्मल वर्मा की ग्यारह लम्बी कहानियों का संग्रह। निर्मल जी की कहानियाँ अक्सर सोचती हुई सी ( रिफ्लेक्टिव) कहानियाँ होती हैं।

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined offset: 1

Filename: books/book_info.php

Line Number: 541

...पीछे |

<< पिछला पृष्ठ प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book