आमने-सामने - मृदुला गर्ग Aamne-Samne - Hindi book by - Mridula Garg
लोगों की राय

नई पुस्तकें >> आमने-सामने

आमने-सामने

मृदुला गर्ग

प्रकाशक : अमन प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2018
पृष्ठ :128
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 12543
आईएसबीएन :9789386604521

Like this Hindi book 0

साक्षात्कार साहित्य की एक अप्रतिम और दुष्कर विधा है। इसमें एक के बजाय दो व्यक्ति मिल कर रचना करते हैं। जब वे आमने-सामने होते हैं तो प्रक्रिया यह रहती है कि एक सवाल करता है, दूसरा जवाब देता है। पर जवाबदेही दोनों कि एक जैसी रहती है। हर प्रश्न में एक उत्तर निहित रहता है और हर उत्तर एक नए प्रश्न को जन्म देता है। वरिष्ठ कथाकार ‘मृदुला गर्ग’ के साक्षात्कारों कि एक महत्वपूर्ण पुस्तक।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book