भाषा विज्ञान: सैद्धांतिक चिंतन - रवीन्द्रनाथ श्रीवास्तव Bhasha Vigyan : Saidhantik Chintan - Hindi book by - Ravindra Nath Srivastava
लोगों की राय

भाषा एवं साहित्य >> भाषा विज्ञान: सैद्धांतिक चिंतन

भाषा विज्ञान: सैद्धांतिक चिंतन

रवीन्द्रनाथ श्रीवास्तव

प्रकाशक : राधाकृष्ण प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2013
पृष्ठ :181
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 13422
आईएसबीएन :9788171193394

Like this Hindi book 0

प्रस्तुत पुस्तक प्रो. श्रीवास्तव के भाषावैज्ञानिक सैद्धान्तिक चिन्तन पर प्रकाश डालती है

प्रोफेसर रवीन्द्रनाथ श्रीवास्तव भारतीय भाषा-समुदायों, विशेषकर हिन्दी भाषा-समुदाय की संरचना को व्याख्यायित करने की ओर उन्मुख विद्वानों में अग्रणी रहे हैं। प्रस्तुत पुस्तक प्रो. श्रीवास्तव के भाषावैज्ञानिक सैद्धान्तिक चिन्तन पर प्रकाश डालती है। रूसी, अमरीकी विभिन्न भाषा विश्लेषण पद्धतियों से परिचित होने के बावजूद उन्होंने भारतीय चिन्तन परम्परा को अपने विवेचन का आधार बनाया। इन लेखों के द्वारा जहाँ उनके चिन्तन की गहराई का पता चलता है वहाँ संस्कृत वैज्ञानिक विलेषण के प्रति उनके लगाव का भी परिचय मिलता है। इस सामग्री से विद्यार्थियों में भाषाविज्ञान के प्रति रुचि उत्पन्न होगी, साथ ही भाषावैज्ञानिक सैद्धान्तिक चिन्तकों को दिशा-निर्देश भी प्राप्त होगा। विश्वास है, यह पुस्तक तथा इस शृंखला की अन्य पुस्तकें भी प्रो. श्रीवास्तव के भाषा-चिन्तन को प्रभावशाली ढंग से अध्येताओं तक पहुंचाएंगी।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book