मुगल कालीन भारत: हुमायूँ: खंड -1 - सैयद अतहर अब्बास रिजवी Mughal Kaleen Bharat : Humayu : Vol.-1 - Hindi book by - Saiyad Athar Abbas Rizvi
लोगों की राय

इतिहास और राजनीति >> मुगल कालीन भारत: हुमायूँ: खंड -1

मुगल कालीन भारत: हुमायूँ: खंड -1

सैयद अतहर अब्बास रिजवी

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2018
पृष्ठ :965
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 14066
आईएसबीएन :9788126718375

Like this Hindi book 0

हुमायूँ से सम्बन्धित फारसी स्रोतों का अनुवाद ‘मुग़लकालीन भारत’ भाग-1 एवं 2 में प्रकाशित किया गया है।

हुमायूँ से सम्बन्धित फारसी स्रोतों का अनुवाद ‘मुग़लकालीन भारत’ भाग-1 एवं 2 में प्रकाशित किया गया है। इन दोनों भागों में भी पूर्व ग्रन्थों की भाँति हुमायूँ के समकालीन फ़ारसी स्रोतों का हिन्दी भाषान्तर प्रस्तुत किया गया है। प्रथम भाग में जिन इतिहासकारों के ग्रन्थों के हिन्दी अनुवाद सम्मिलित किये गये हैं, उनमें मुख्य हैं: ख़्वन्द मीर का ‘क़ानूने हुमायूँनी’, मिर्जा हैदर का ‘तारीख़े रशीदी’, मीर अत्ताउद्दौला का ‘नफायसुल मआसिर’, गुलबदन बेगम का ‘हुमायूँ नामे’ एवं शेख अबुल फ़ज़ल का ‘अकबरनामे’ आदि। यही नहीं डॉ. अतहर अब्बास रिज़वी ने हुमायूँ के इतिहास से सम्बन्धित अफ़ग़ान स्रोतों को भी इस भाग में सम्मिलित किया है। कुछ ग्रन्थों के अनुवाद मूल पाठ में न देकर पादटिप्पणियों में सम्मिलित कर लिये गये हैं। इन ग्रन्थों के अनुवादों के कारण ग्रन्थ की उपादेयता में वृद्धि हो गयी है। जिन ग्रंथों के संक्षिप्त अनुवाद किए गए हैं उनका अनुवाद करते समय इस बात का प्रयत्न किया गया है कि कोई भी महत्वपूर्ण घटना अथवा सांस्कृतिक, सामाजिक एवं आर्थिक महत्व की बात छूटने न पाये। अन्य ग्रन्थों की तरह यह ग्रन्थ भी हुमायूँ कालीन इतिहास के अध्ययन के लिये अत्यंत उपयोगी है विशेषतः उनके लिये जो फ़ारसी से अनभिज्ञ हैं लेकिन इस काल पर शोध करना चाहते हैं, उनको एक ही स्थान पर सम्पूर्ण सामग्री उपलब्ध हो जाती है।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book