पितृसत्ता के नये रूप - राजेन्द्र यादव Pitrisatta Ke Naye Roop - Hindi book by - Rajendra Yadav
लोगों की राय

नारी विमर्श >> पितृसत्ता के नये रूप

पितृसत्ता के नये रूप

राजेन्द्र यादव

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2019
पृष्ठ :227
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 14140
आईएसबीएन :9788126719679

Like this Hindi book 0

‘पितृसत्ता के नये रूप: स्त्री और भूमंडलीकरण’, कुछ रचनाओं को छोड़कर उसी अंक का पुस्तक रूप है।

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined offset: 1

Filename: books/book_info.php

Line Number: 541

...पीछे |

<< पिछला पृष्ठ प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book