पराक्रमी अभिमन्यु - राधेश्याम अग्रवाल Parakrami Abhimanyu - Hindi book by - Radheshyam Agarwal
लोगों की राय

पौराणिक कथाएँ >> पराक्रमी अभिमन्यु

पराक्रमी अभिमन्यु

राधेश्याम अग्रवाल

प्रकाशक : सहयोग प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2001
पृष्ठ :64
मुखपृष्ठ :
पुस्तक क्रमांक : 4657
आईएसबीएन :0

Like this Hindi book 9 पाठकों को प्रिय

362 पाठक हैं

पाण्डव किशोर की अनुपम वीरता की कहानी

Parakrami Abhimanyu

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश


महाभारत युद्ध के समय जब किसी कार्यवश अर्जुन युद्ध के मैदान से अलग था तो कौरवों ने चक्रव्यूह रचने की योजना बनाई जिसको सिर्फ अर्जुन तोड़ना जानता था। लेकिन चक्रव्यूह को तोड़ने के लिए अर्जुन का बेटा अभिमन्यु युद्ध के मैदान में कूद पड़ा... और उसी की वीर गाथा है इस पुस्तक में।

प्रथम पृष्ठ

लोगों की राय

No reviews for this book