मछली मरी हुई - राजकमल चौधरी Machli Mari Hui - Hindi book by - Rajkamal Chaudhary
लोगों की राय

नारी विमर्श >> मछली मरी हुई

मछली मरी हुई

राजकमल चौधरी

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2009
पृष्ठ :172
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 6982
आईएसबीएन :9788126705696

Like this Hindi book 5 पाठकों को प्रिय

2 पाठक हैं

यह इस छोटे-से उपन्यास का विषय नहीं है। विषय यह भी नहीं है कि शीरीं पद्मावत् को, एक साधारण पुरुष की साधारण पत्नी बनकर, जीवित रहने का अधिकार मिला या नहीं...

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined offset: 1

Filename: books/book_info.php

Line Number: 541

...पीछे |

<< पिछला पृष्ठ प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book