अच्छा हुआ मुझे शकील से प्यार नहीं हुआ - मीनाक्षी स्वामी Achchha Hua Mujhe Shakil Se Pyar Nahi Hua - Hindi book by - Meenakshi Swami
लोगों की राय

कहानी संग्रह >> अच्छा हुआ मुझे शकील से प्यार नहीं हुआ

अच्छा हुआ मुझे शकील से प्यार नहीं हुआ

मीनाक्षी स्वामी

प्रकाशक : किताबघर प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2001
पृष्ठ :148
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 8798
आईएसबीएन :8170164893

Like this Hindi book 7 पाठकों को प्रिय

204 पाठक हैं

बहुत ही शांत और निरुद्वेग ढंग से स्वयं को सृजन में एकाग्र रखने वालों में एक नाम मीनाक्षी स्वामी का है...

Ek Break Ke Baad

मीनाक्षी स्वामी के इस संग्रह में 13 कहानियां हैं।

वैसे इन कहानियों में प्रश्न जरूर पुराने हैं लेकिन उन प्रश्नों के संदर्भ इतने अधिक बदले हुए और नए हैं कि उनके उत्तर उद्विग्न करते हैं। और दिलचस्प बात यही है कि मीनाक्षी उस उद्विग्नता को लेखकीय दृढ़ोक्ति की तरह कथा के स्थापत्य में ब्रह्मस्थल में रख देती हैं और लगे हाथ यह यकीन भी पैदा करती चलती हैं कि हमेशा अनुभवों को संवेदना के एक ऐसे संभव व संप्रेष्य रूप में रखा जाना चाहिए कि समूचा कथानक भारतीय स्त्री के प्रतिनिधि प्रश्नों की परिधियों के पार भी जा सके। इस युक्ति से वे अपने लेखन को बचा भी ले जाती हैं।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book