चोखेर बाली - रबीन्द्रनाथ टैगोर Chokher Bali - Hindi book by - Rabindranath Tagore
लोगों की राय

सामाजिक >> चोखेर बाली

चोखेर बाली

रबीन्द्रनाथ टैगोर

प्रकाशक : राजपाल एंड सन्स प्रकाशित वर्ष : 2015
पृष्ठ :192
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 9429
आईएसबीएन :9789350643600

Like this Hindi book 6 पाठकों को प्रिय

387 पाठक हैं

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

रबीन्द्रनाथ टैगोर का उपन्यास चोखेर बाली हिन्दी में ‘आँख की किरकिरी’ के नाम से प्रचलित है। प्रेम, वासना, दोस्ती और दाम्पत्य-जीवन की भावनाओं के भंवर में डूबते-उतरते चोखेर बाली के पात्रों-विनोदिनी, आशालता, महेन्द्र और बिहारी-की यह मार्मिक कहानी है। 1902 में लिखा गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर का यह उपन्यास मानवीय भावनाओं और उस समय के बंगाल के समाज का जीता-जागता चित्रण प्रस्तुत करता है और इसलिए उनका सबसे उत्कृष्ट उपन्यास माना जाता है। जिस पर इसी नाम से फिल्म भी बन चुकी है।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book