Dinkar Joshi/दिनकर जोशी
लोगों की राय

लेखक:

दिनकर जोशी
जन्म : 30 जून 1937, भावनगर, गुजरात।

आपका जन्म भावनगर, गुजरात में हुआ। आपने बी.ए. (ऑनर्स) तक शिक्षा प्राप्त की, तत्पश्चात् बैंक सेवा में चले गए। सैंतीस वर्ष की बैंक सेवा के पश्चात् आजकल स्वतंत्र रूप से केवल साहित्य लेखन में व्यस्त हैं। आपकी पहली कहानी 1954 में तथा पहला उपन्यास 1963 में प्रकाशित हुआ।

श्री दिनकर जोशी का रचना-संसार काफी व्यापक है। 41 उपन्यास, 11 कहानी संग्रह, 10 संपादित पुस्तकें, ‘महाभारत’ व ‘रामायण’ विषयक 9 अध्ययन ग्रंथ और लेख, प्रसंग चित्र अन्य अनूदित पुस्तकों सहित अब तक उनकी कुल 110 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। उन्हें गुजरात राज्य सरकार के 5 पुरस्कार, गुजराती साहित्य परिषद् का ‘उमा स्नेह रश्मि पारितोषिक’ तथा गुजरात थियोसोफिकल सोसाइटी का ‘मैडम ब्लेवेट्स्की अवार्ड’ प्रदान किए गए हैं।

कृतियाँ :

उपन्यास : उजाले की परछाईं, श्याम फिर एक बार तुम मिल जाते, कृष्णं वंदे जगद्गुरुम्, द्वारका का सूर्यास्त, अमृतयात्रा, 35 अप 36 डाउन, गुरुदेव, महाभारत में मातृ-वंदना, महाभारत में पितृ-वंदना।

अमृतयात्रा

दिनकर जोशी

मूल्य: Rs. 250

एक कालजयी व ह्रदयस्पर्शी उपन्यास...   आगे...

कृष्णं वंदे जगद्गुरुम्

दिनकर जोशी

मूल्य: Rs. 150

प्रस्तुत पुस्तक में श्रीकृष्ण के चरित्र को बौद्धिक स्तर से समझने का प्रयास किया गया है...   आगे...

गुरुदेव

दिनकर जोशी

मूल्य: Rs. 200

रवीन्द्रनाथ टैगोर के जीवन पर आधारित उपन्यास....   आगे...

चक्र से चरखे तक

दिनकर जोशी

मूल्य: Rs. 250

कृष्ण का जीवन-ध्येय धर्म की संस्थापना था और गांधी का जीवन-ध्येय सत्य की प्राप्ति था।   आगे...

द्वारका का सूर्यास्त

दिनकर जोशी

मूल्य: Rs. 150

प्रस्तुत है श्रेष्ठ उपन्यास...   आगे...

महाभारत में पितृ-वंदना

दिनकर जोशी

मूल्य: Rs. 175

महाभारत के प्रमुख पात्रों के विशिष्ट स्वरूपों का वर्णन....   आगे...

महाभारत में मातृ-वंदना

दिनकर जोशी

मूल्य: Rs. 175

महाभारत में वर्णित माताओं के वंदनीय स्वरूपों का वर्णन....   आगे...

श्याम फिर एक बार तुम मिल जाते

दिनकर जोशी

मूल्य: Rs. 150

प्रस्तुत है श्रीकृष्ण के जीवन पर आधारित उपन्यास..   आगे...

 

   8 पुस्तकें हैं|