Suchitra Bhattacharya/सुचित्रा भट्टाचार्य
लोगों की राय

लेखक:

सुचित्रा भट्टाचार्य
सुचित्रा भट्टाचार्य जन्म : 10 जनवरी 1950 को भागलपुर में।

देहावसान : 12 May 2015

कई कई तरह की अजीबोगरीब नौकरियों के बाद, अंत में सरकारी अफसर!

'आमी रायकिशोरी', 'जोखिन जुद्ध', 'काँचेर दीवार' और 'दहन', 'परदेस', 'अपने लोग', 'उड़ते बादल' ‘हेमन्त का पंछी' वगैरह अनगिनत उपन्यास! औरत के पक्ष में, औरत की अपनी निजी दुनिया की बातें; उनके अपने दुःख-दर्द-पीड़ा; उनकी समस्याएँ और उपलब्धियों की कथा व्यथा! सुचित्रा के लेखन में घूम-फिरकर इंसानी सरोकार और आपसी रिश्तों की विभिन्न दिशाएँ, उन्मुक्त होती हैं। ज़िन्दगी की अनगिनत जटिलताओं को कलमबन्द किया है।

अनुवादिका परिचय

अतिशय महत्त्वकांक्षा उसे तबाह कर देती है। हम सब जिस कालखंड में साँस ले रहे हैं, वह सच ही ‘ध्वंसकाल' है। इंसान अपने लोभ, चाह, दुनियादारी ज़रूरतों को येन-केन-प्रकारेण पूरा करने की पागल दौड़ में अपने आदशों की बलि दे देता है और तब उसके जीवन, उसके रिश्तों, उसके मूल्यबोध में ‘ध्वंस' उतरता है तथा सारे सपने, सुख-चैन समेट ले जाता है। लेकिन, अभी भी वक्त है! अपने किए हुए गुनाहों का सच्चा प्रायश्चित्त, उसे अपने को नए सिरे से आश्वासन के साथ, ‘ध्वंसकाल’ की परिसमाप्ति के इंतज़ार में हूँ, ताकि जीवन और रिश्तों की नई सुबह ही!

अब तक 65 बांग्ला उपन्यासों का अनुवाद। 10 प्रेस में!

अपने लोग

सुचित्रा भट्टाचार्य

मूल्य: Rs. 500

अपने लोग...   आगे...

आलोक छाया

सुचित्रा भट्टाचार्य

मूल्य: Rs. 250

आधुनिक बँगला साहित्य की प्रख्यात कथाकार सुचित्रा भट्टाचार्य का एक अत्यन्त रोचक एवं पठनीय उपन्यास   आगे...

काँच की दीवार

सुचित्रा भट्टाचार्य

मूल्य: Rs. 350

स्त्री के अन्तर्द्वंद्व, संघर्ष, कल्पना, विचलन और भावनाओं को व्यक्त करता सुप्रसिद्ध बांग्ला लेखिका सुचित्रा भट्टाचार्य की कलम से एक रोचक उपन्यास...

  आगे...

काँच की दीवार

सुचित्रा भट्टाचार्य

मूल्य: Rs. 350

काँच की दीवार   आगे...

दहन

सुचित्रा भट्टाचार्य

मूल्य: Rs. 150

इसमें औरत को अपने जुल्म और अत्याचार का शिकार बनाने वाले मर्दों के खिलाफ सामाजिक इंसाफ की वकालत का वर्णन है...   आगे...

ध्वंसकाल

सुचित्रा भट्टाचार्य

मूल्य: Rs. 200

ध्वंसकाल ...   आगे...

नीली आँधी

सुचित्रा भट्टाचार्य

मूल्य: Rs. 295

प्रस्तुत है पुस्तक नीली आँधी .......

  आगे...

परदेस

सुचित्रा भट्टाचार्य

मूल्य: Rs. 125

क्या अपना गाँव ही, देश ही शायद उसकी पनाह है, बाकी हर जगह परदेश है, जहाँ वे महज प्रवासी हैं।   आगे...

हेमन्त का पंछी

सुचित्रा भट्टाचार्य

मूल्य: Rs. 150

घर गृहस्थी संभालने वाली महिला यदि अपने एकाकीपन को दूर करने के लिए कोई ऐसा सहारा ढूँढ ले जिसमें उसे अपने जीवन के मायने मिलें तो...   आगे...

 

   9 पुस्तकें हैं|