ग्रामीण विकास का आधार: आत्मनिर्भर पंचायतें - प्रतापमल देवपुरा Gramin Vikash Ka Adhar : Aatmanirbhar Panchayanten - Hindi book by - Pratapmal Devpura
लोगों की राय

समाजवादी >> ग्रामीण विकास का आधार: आत्मनिर्भर पंचायतें

ग्रामीण विकास का आधार: आत्मनिर्भर पंचायतें

प्रतापमल देवपुरा

प्रकाशक : राधाकृष्ण प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2006
पृष्ठ :231
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 13468
आईएसबीएन :818361051x

Like this Hindi book 0

पुस्तक में पंचायत की सफलता की कहानियाँ, कार्टून, चित्र, सारणियाँ एवं आरेखों के द्वारा विषय को रोचक बनाने का प्रयास किया गया है ताकि

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined offset: 1

Filename: books/book_info.php

Line Number: 541

...पीछे |

<< पिछला पृष्ठ प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book