लोगों की राय

लेखक:

अमरकान्त

जन्म : 1 जुलाई, 1925; ग्राम भगमलपुर (नगरा), जिला बलिया, (उ.प्र.)।

प्रकाशित कृतियाँ :

उपन्यास : सूखा पत्ता, काले-उजले दिन, कँटीली राह के फूल, ग्रामसेविका, सुखजीवी, बीच की दीवार, सुन्नर पांडे की पतोह, आकाश पक्षी, इन्हीं हथियारों से।

कहानी संग्रह : जिन्दगी और जोंक, देश के लोग, मौत का नगर, मित्र-मिलन तथा अन्य कहानियाँ, कुहासा, तूफान, कलाप्रेमी, प्रतिनिधि कहानियाँ, दस प्रतिनिधि कहानियाँ, एक धनी व्यक्ति का बयान, सुख और दुःख का साथ, अमरकान्त की सम्पूर्ण कहानियाँ (दो खंडों में)।

संस्मरण : कुछ यादें, कुछ बातें।

बाल साहित्य : नेऊर भाई, वानर सेना, खूँटा में दाल है, सुग्गी चाची का गाँव, झगरू लाल का फैसला, एक स्त्री का सफर, मँगरी, बाबू का फैसला, दो हिम्मती बच्चे।

पुरस्कार व सम्मान : सोवियतलैंड नेहरू पुरस्कार, मैथिलीशरण गुप्त पुरस्कार, उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान पुरस्कार, यशपाल पुरस्कार, जन-संस्कृति सम्मान, मध्य प्रदेश का ‘अमरकान्त कीर्ति’ सम्मान, इलाहाबाद विश्वविद्यालय के हिन्दी विभाग का सम्मान, ‘इन्हीं हथियारों से’ उपन्यास, साहित्य अकादमी से पुरस्कृत।

विशेष : विदेशी भाषाओं, प्रादेशिक भाषाओं, पेंग्विन इंडिया में कहानियाँ प्रकाशित, दूरदर्शन पर कहानियों पर फिल्में प्रदर्शित, रंगमंच पर कहानियों के नाट्य-रूपान्तरों का प्रदर्शन।

निधन : 17 फरवरी, 2014

मित्र मिलन

अमरकान्त

मूल्य: Rs. 125

मित्र मिलन पुस्तक का किंडल संस्करण...   आगे...

मित्रमिलन तथा अन्य कहानियाँ

अमरकान्त

मूल्य: Rs. 95

ये कहानियाँ न केवल इतिहास की विसंगतियों और असफलताओं पर गम्भीर चिन्ता व्यक्त करती हैं, बल्कि यथा-स्थितिवाद का कोहरा हटा कर हमारे दृष्टिकोण को बदलती हैं, और हमें मनुष्य के अधिक निकट ले जाती हैं

  आगे...

सुख और दुख का साथ

अमरकान्त

मूल्य: Rs. 120

अमरकान्त का रोचक कथा-संसार...

  आगे...

सुन्नर पांडे की पतोह

अमरकान्त

मूल्य: Rs. 250

यह उपन्यास पति द्वारा परिव्यक्त राजलक्ष्मी नाम की उस स्त्री की कहानी है जो न केवल नर-भेड़ियों से भरे समाज में अपनी अस्मत बचा के रती बल्कि कुछ लोगों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत भी है।

  आगे...

सूखा पत्ता

अमरकान्त

मूल्य: Rs. 195

आजादी से पहले के पूर्वी उत्तरप्रदेश का कस्बाई परिवेश और इसका किशोर कथा-नायक कृष्ण-यहाँ असाधारण रूप में चित्रित हुए हैं...

  आगे...

 

12   15 पुस्तकें हैं|